बिज़नेस

टैक्स रिफंड से EPF निकासी तक: कोरोना वायरस संकट में नौकरीपेशा और टैक्सपेयर्स के लिए 5 राहत

 नई दिल्ली 
कोरोना वायरस संकट को देखते हुए सरकार ने अर्थव्यवस्था के साथ आम लोगों की मदद के लिए कई कदम उठाए हैं। पिछले महीने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 1.70 लाख करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की। सरकार अब तक समाज के विभिन्न वर्गों को करीब 30 हजार करोड़ रुपये की मदद दे चुकी है। इसके अलावा नौकरीपेशा और टैक्सपेयर्स के लिए भी सरकार ने कई ऐलान किए हैं। आइए डालते हैं एक नजर।

1. टैक्स रिफंड
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसी सप्ताह घोषणा की कि कारोबार और व्यक्तिगत टैक्सपेयर्स का 18000 करोड़ रुपये का टैक्स रिफंड तुरंत जारी किया जाएगा। टैक्स डिपार्टमेंट ने एक ट्वीट में कहा, 'भारत सरकार ने निर्णय लिया है कि 5 लाख रुपये तक लंबित टैक्स रिफंड और जीएसडी/कस्टम रिफंड को तुरंत जारी किया जाएगा।'
 
2. ईपीएफ निकासी
सरकार ने कोरोना वायरस संकट की वजह से नौकरीपेशा लोगों के सामने आई दिक्कत को देखते हुए एक विशेष प्रावधान किया। इसके तहत सरकार ने कर्मचारियों को कर्मचारी भविष्य निधी (ईपीएफ) खाते से तीन महीने के बराबर सैलरी निकालने की छूट दी। इस निकासी पर सर्विस चार्ज से भी छूट दी गई है।
 
3. इनकम टैक्स रिटर्न डेडलाइन
वित्त वर्ष 2018-19 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न भरने की आखिरी तारीख बढ़ाकर 30 जून 2020 कर दिया गया है। देर से इनकम टैक्स भरने पर ब्याज दर को 12 फीसदी से घटाकर 9 फीसदी कर दिया गया है। 

4. जीएसटी रिटर्न
मार्च, अप्रैल और मई के लिए जीएसटी रिटर्न भरने की समयसीमा 30 जून 2020 तक बढ़ा दी गई है। 

5. आधार-पैन लिंकिंग
आधार कार्ड को पैन कार्ड से लिंक करने की समयसीमा को भी 31 मार्च से बढ़ाकर 30 जून 2020 कर दिया गया है।
 
तेजी से बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले
देश में कोरोना वायरस केसों की संख्या 8 हजार के पार चली गई है। रविवार सुबह स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, 715 लोग ठीक हो चुके हैं तो 273 लोगों की कोरोना वायरस की वजह से जान चली गई है।  

Related Articles

Back to top button
Close
Close