छत्तीसगढ़रायपुर

पीलिया से हांफने लगा है निगम प्रशासन

रायपुर
कोरोना का संकट टला नहीं है और इस बीच राजधानी के लगभग डेढ़ दर्जन इलाके ऐसे हैं जहां पीलिया ने पांव पसार लिया है। कई वार्ड के पार्षद बार-बार निगम प्रशासन को नलों से गंदे पानी की सप्लाई को लेकर आगाह कर रहे थे फिर भी सुध नहीं लिया जा रहा था। जब विभागीय सचिव ने पड़ताल के दौरान पूछ लिया कि जब फंड जारी हो चुका है फिर पाइप लाइन बदलने का काम पूरा क्यों नहीं हुआ। तब निगम अधिकारियों को जवाब देते नहीं बना। अब भुगतना स्थानीय रहवासियों को है,हुआ क्या निगम के कुछ अधिकारियों को आफिस अटैच कर दूसरे को प्रभार सौंप दिया गया है लेकिन संक्रमण तो फैल चुका है। कुछ जगहों पर पाइप लाइन बदलने  और प्रभावित एरिया में टैंकर से सप्लाई का काम शुरू करने के साथ स्वास्थ्य शिविर लगाये जा रहे हैं। लेकिन सवाल यह है कि हर साल आखिर निगम गर्मी के दिनों में ही क्यों जागता है? इधर निगम आयुक्त ने दो टूक कह दिया है कि शहर के किसी और जगह अब शिकायत नहीं मिलनी चाहिए।

दरअसल पाइप लाइन कई इलाकों की इतनी जर्जर हो चुकी है कि नालों के बीच से गुजरने के दौरान पानी उसमें प्रवेश कर जाता है। हर साल की यह शिकायत है,नगरीय निकाय विभाग से भरपूर राशि उपलब्ध कराये जाने के बाद भी इस मूलभूत काम का न होना निगम की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा करता है इसलिए भी जब टैक्स की भरपाई समय पर नहीं हो पाती है तो निगम का अमला घर-घर पहुंच जाता है नोटिस चस्पा कर जुमार्ने की धमकी दी जाती है लेकिन बदले में देती है क्या संक्रमणयुक्त बीमारी। अभी जो तत्परता दिखाई जा रही है क्या निगम के अधिकारियों को जानकारी नहीं थी। दरअसल कोरोना के बीच पीलिया को रोकने में अब निगम कर्मियों के हाथ-पांव फूलने लगे हैं।

बहरहाल मुकुटनगर पानी टंकी की पाइपलाइन आमापारा तक बदलने में कर्मचारी दिन रात जुटे हुए है। आमापारा स्वीपर कालोनी मंगलबाजार में टैंकरों से पानी दी जा रही है। पानी टंकियों की स्थिति का हर दो माह में आकलन रिपोर्ट भी दिया जाना है सफाई से लेकर आपूर्ति तक। फिर भी लापरवाही उजागर होने के बाद जब विभाग के सचिव व निगम आयुक्त ने सख्ती दिखाई तो काम में तत्परता दिखाई जा रही है। इधर राजधानी में फैले पीलिया के बाद से स्वास्थ्य विभाग लगातार नजर बनाए हुए हैं। संभागीय संयुक्त संचालक स्वास्थ्य सेवाएं डॉ. सुभाष पाण्डे और शहरी कार्यक्रम प्रबंधकों ने पीलिया प्रभावित क्षेत्रों का भ्रमण किया। रायपुर शहरी क्षेत्र में ईदगाह भाठा, मंगल बाजार आमापारा मोरेशिवनगर क्षेत्र, चंगोराभांठा और मोवा सड्डू ,काँपा क्षेत्र में विगत दिनों से दूषित पेयजल के कारण पीलिया फैला हुआ है। इन क्षेत्रों में 3 अप्रैल से लगातार शिविर आयोजित कर सन्देहास्पद का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। जरूरतमंदों को जिला अस्पताल में दाखिल भी कराया जा रहा है।

Related Articles

Back to top button
Close
Close