मध्य प्रदेशराज्य

मध्य प्रदेश में अब तक 43 की मौत, कोरोना मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 560

भोपाल
मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में कोरोना वायरस (Corona Virus) से संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. अब तक इसके 560 मामले सामने आ चुके हैं. प्रदेश में 43 लोगों की इस कारण जान भी जा चुकी है. मिनी मुंबई के नाम से देश में मशहूर इंदौर शहर (Indore City) पर कोरोना ने जमकर तबाही बरपाई है. यहां 298 पॉजिटिव केस मिले, जिनमें से 32 की मौत हो चुकी है. जबकि 39 मरीज़ पूरी तरह स्वस्थ हुए हैं. जबकि राजधानी भोपाल में 135 लोग कोरोना से संक्रमित मिले. इनमें से 2 की मौत हो गई. वहीं, तीन मरीज स्वस्थ होकर अपने घर वापस लौट चुके हैं. इसके अलावा मुरैना में 14 पॉजिटिव केस, उज्जैन में 18 मामले सामने आये. इनमें से पांच मरीजों की मौत हो गई. वहीं 3 पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं. जबलपुर में 10 कोरोना पॉजिटिव मरीजों में से पांच मरीज स्वस्थ हो चुके हैं.

इस बीच ग्वालियर जिले से राहत भरी खबर आ रही है. यहां कोरोना पॉजिटिव के 6 मामलों की जानकारी मिली. इलाज के दौरान ये मरीज स्वस्थ हो चुके हैं. शिवपुरी में भी दो कोरोना संक्रमित मरीज भी स्वस्थ्य हो कर अपने घर वापस लौच चुके हैं. जबकि खरगोन में 16 कोरोना पॉजिटिव मरीजों में से 2 की मौत हो चुकी है. छिंदवाड़ा में 4 कोरोना पॉजिटिव मरीज​ में से 1 की मौत हो चुकी है. इसके अलावा अन्य जिलों जैसे बड़वानी में 14 मामले, विदिशा में 13, बैतूल में 1, होशंगाबाद में 10, श्योपुर में 2, रायसेन में 1, खंडवा में 5, धार में 2, देवास में 3, शाजापुर में 1, सागर में 1, मंदसौर में 1, रतलाम में 1 और सतना अब तक दो कोरोना संक्रमित मरीजों की जानकारी मिली है.

गौरतलब है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि पिछले 24 घंटे में देश भर में कोविड-19 के 1035 नए मामले सामने आए हैं और 40 लोगों की मौत हुई है. इस तरह, देश भर में संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़ कर 7,447 पहुंच गई और अब तक 239 मौत दर्ज की गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि एक लाख से अधिक आइसोलेशन बिस्तरों और 11,500 आईसीयू बिस्तरों के साथ देश भर में कुल 586 अस्पतालों को कोविड-19 के इलाज के लिए विशेष हॉस्पिटल के रूप में चिह्नित किया गया है.

सरकार ने देश में कोरोना वायरस संक्रमण वाले क्षेत्र (हॉटस्पॉट) की पहचान के लिए पहले से ही एहतियाती कदम उठा रखे हैं. लॉकडाउन और संक्रमण वाले इलाके को सील करने जैसे अन्य उपायों के अभाव में 15 अप्रैल तक देश में कोरोना वायरस संक्रमण के 8.2 लाख से अधिक मामले होते.

Related Articles

Back to top button
Close
Close