दुनिया

कोरोना महासंकट: ब्रिटेन में ताबूत हुए खत्म, बेडशीट में शवों को लपेटकर रख रहे डॉक्टर

 
लंदन

ब्रिटेन में कोरोना संक्रमण के कारण मरने वालों की संख्या 10,612 हो गई। ब्रिटेन में मौत की रफ्तार इतनी तेज है कि अस्पतालों के पास शव को रखने के लिए बॉडी बैग तक नहीं बचे हैं। उन्हें बेड शीट में ही लपेटकर रखा जा रहा है। इन बेड शीट के अंदर भी किसी तरह की कोई प्लास्टिक या और कपड़े का इस्तेमाल भी नहीं हो रहा। केवल एक चादर में ही शव को लपेटा जा रहा है।

इससे बाकी लोगों में भी संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इस हालात को देखते हुए अंतिम संस्कार से जुड़े उन लोगों में भी संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है जो तमाम अस्पतालों और शव घरों से मृतकों को लाकर उनका अंतिम संस्कार करते हैं। साथ ही अन्य लोगों को भी वायरस अपनी चपेट में ले सकता है।
 
वायरस रेफ्रीजरेटर में भी 3 दिन तक सक्रिय
रिसर्च में सामने आया है कि ये वायरस रेफ्रीजरेटर में भी 3 दिन तक सक्रिय रहते हैं। लोगों का कहना है कि यह आलम केवल एक अस्पताल का नहीं है, बल्कि बहुत से अस्पताल ऐसे हैं जहां यह समस्या है कि उनके पास बॉडी बैग तक खत्म हो गए हैं। रविवार को 24 घंटे में 737 लोगों की मौत हो गई जो पिछले दो दिनों में होने वाली मौतों से कम रहा। इससे पहले दोनों दिन 1000 से ज्यादा मौतें दर्ज की गई थीं।
 

हालांकि, अब तक देश में सिर्फ 344 लोग ही ठीक हो सके हैं। उनमें एक पीएम बोरिस जॉनसन भी रहे है। करीब 1 हफ्ते पहले अस्पताल में भर्ती हुए बोरिस को आईसीयू में भर्ती कराना पड़ा था। अस्पताल से वापस आने के बाद पीएम ने देश के लोगों और नैशनल हेल्थ सर्विस (NHS) को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि देश इस वक्त ऐसे दुश्मन का सामना कर रहा है जिसके बारे में कोई समझ नहीं है। पीएम ने उनकी देखभाल करने वाले नर्सों का जिक्र करते हुए बताया कि कैसे पूरा NHS लोगों को बचाने में जुटा हुआ है। उन्होंने कहा कि NHS की वजह से ब्रिटेन कोरोना से जीत हासिल करेगा।
 

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close