देश

पटियाला निहंग केस: 11 आरोपी गिरफ्तार, फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा केस

पटियाला

पंजाब के पटियाला में लॉकडाउन का उल्लंघन कर रहे कुछ निहंगों ने हमलाकर एक एएसआई का हाथ काट दिया था. अच्छी खबर ये है कि करीब साढ़े सात घंटे के मैराथन ऑपरेशन के बाद एएसआई का हाथ जोड़ने में डॉक्टर कामयाब हो गए. इस बीच अब तक 11 हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया गया है और कार्रवाई की जा रही है.

पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता ने सोमवार को कहा कि पटियाला में पुलिस टीम पर किए गए हमले के मामले का ट्रायल अगले 10 दिन में निपटा दिया जाएगा और फास्ट ट्रैक कोर्ट में इस मामले की सुनवाई करवाई जाएगी. इस मामले में यूएपीए, विस्फोटक अधिनियम, शस्त्र अधिनियम, एनडीपीएस अधिनियम के तहत 11 आरोपी गिरफ्तार किेए जा चुके हैं.

क्या है पूरा मामला

दरअसल, पटियाला के सब्जी मंडी इलाके में निहंगों से कर्फ्यू पास मांगा गया. इसके बाद निहंग बैरिकेड तोड़कर गाड़ी भगाने की कोशिश कर रहे थे. वहां तैनात पुलिसकर्मियों ने जब रोकने की कोशिश की तो कार सवार हमले पर उतर आए. इसी दौरान एक निहंग ने तलवार से हमला किया, जिससे एएसआई हरजीत सिंह की कलाई हाथ से अलग हो गई.

तलवार से कलाई काटने के बाद निहंग बलबेड़ा क्षेत्र के गुरुद्वारा खिचड़ी साहब में छिप गए थे. पुलिस अधिकारी भी पीछा करते हुए गुरुद्वारा खिचड़ी साहब पहुंचे. पटियाला जोन के आईजी जतिंदर सिंह ने निहंगों को सरेंडर करने की चेतावनी दी, लेकिन वे गुरुद्वारे के अंदर से लाउड स्पीकर पर पुलिस को धमकियां देने लगे. उन्होंने अंदर से गोलीबारी भी की.

बाद में कमांडो टीम को गुरुद्वारे के अंदर भेजा गया. गुरुद्वारे में कमांडो ऑपरेशन के दौरान डेरे के प्रमुख बलविंदर सिंह को भी गोली लगी है. इस मामले में गुरुद्वारा खिचड़ीपुर साहिब में घंटो चले कमांडो ऑपरेशन के बाद एक महिला समेत 11 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया. गिरफ्तार लोगों में गुरुद्वारा प्रमुख बलविंदर सिंह भी शामिल है.

हाथ से जोड़ी गई कलाई

जख्मी एएसआई को कटी हुई कलाई समेत तुरंत चंडीगढ़ के पीजीआई अस्पताल में भर्ती कराया गया. डॉक्टरों की टीम ने करीब साढ़े सात घंटे लंबे ऑपरेशन के बाद एएसआई हरजीत सिंह की कलाई हाथ से जोड़ने में कामयाबी हासिल कर ली. पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट करके जानकारी दी.

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close