राज्य

CBSE 10वीं के छात्र अब पढ़ सकेंगे दो वैकल्पिक विषय

 पटना 
सीबीएसई 10वीं के छात्र पांच मुख्य विषयों के साथ अब दो वैकल्पिक विषय भी पढ़ सकेंगे। इतना ही नहीं, अगर छात्र मुख्य विषयों में से किसी एक विषय में फेल हो जाते हैं तो उन्हें दो वैकल्पिक विषय के अंकों से बदलाव करने का मौका भी मिलेगा। इनमें एक भाषा विषय शामिल होगा और दूसरे तीन मुख्य विषय (गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान) होंगे।

 नौवीं से ही छात्र दो वैकल्पिक विषय रख पाएंगे। अभी 2021 के लिए नौंवी के छात्रों का रजिस्ट्रेशन होगा। इसमें यह सुविधा उन्हें मिलेगा। अब पांच मुख्य विषय के साथ दो वैकल्पिक विषय भी छात्र रख सकतें हैं। ऐसा करने से 10वीं बोर्ड में उत्तीर्णता का प्रतिशत बढ़ेगा। क्योकि कई छात्र वैकल्पिक विषयों का विकल्प कम होने से फेल होने की स्थिति में बदलाव नहीं कर पाते थे।

वैकल्पिक विषय के रूप में स्किल और भाषा शामिल : सीबीएसई की मानें तो वैकल्पिक विषय के तौर पर स्किल सब्जेक्ट में से किसी एक विषय को छात्र रख सकेंगे। वहीं भाषा के तौर पर कोई भी भाषा रख सकते हैं। वैकल्पिक विषय के तौर पर पहली बार भाषा को जोड़ा गया है। अब सीबीएसई के छात्र तीन सौ अंकों की भाषा पढ़ सकेंगे।

मुख्य विषय में फेल तो देना होता था कंपार्टमेंटल : 10वीं में किसी एक विषय में फेल छात्रों को कंपार्टमेंटल परीक्षा देकर पास करनी होती थी। लेकिन अब मुख्य विषय में किसी एक में फेल होंगे लेकिन छठे विषय यानी स्किल विषय में पास होंगे तो स्किल विषय के अंक को पांच विषय के तौर पर रखा जायेगा। इससे छात्रों को काफी राहत मिलेगी।

अब 10वीं के रिजल्ट से छात्र अपनी रुचि का आकलन कर पाएंगे। रिजल्ट से छात्रों को पता चलेगा कि उनकी रुचि किन विषयों में हैं। स्किल विषय को भी अब छात्र आगे की पढ़ाई में शामिल कर सकते हैं।

Related Articles

Back to top button
Close
Close