उत्तर प्रदेशराज्य

Covid-19: यूपी मेें देश के सबसे कम उम्र के बच्‍चे को हुआ कोरोना, बस्‍ती में अब तक 14 संक्रमित 

बस्‍ती 
कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या के चलते प्रदेश में टॉप टेन में शामिल हो चुके बस्ती जिले के लिए सोमवार का दिन पूरे देश को चौकाने वाला रहा। हॉटस्पॉट बन चुके मिल्लतनगर के रहने वाले मोहम्मद ओवेस का तीन माह का दुधमुंहा बेटा मोहम्मद आहम कोरोना पॉजिटिव मिला है। यह देश मेें अब तक का सबसे कम उम्र का बच्‍चा है जिसे कोरोना संक्र‍मित पाया गया हैै। इसके पहले लखनऊ में दो साल का बच्‍चा कोरोना से संक्रमित पाया गया था।
 
संभवत: देश में चिन्हित हजारों कोरोना पॉजिटिव में वह सबसे छोटी आयु का मरीज है। डीएम आशुतोष निरंजन ने पुष्टि करते हुए बताया कि बीआरडी मेडिकल कॉलेज से मिली रिपोर्ट के मुताबिक तीन माह का मासूम पॉजिटिव है। उसकी मां और पिता की जांच रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। 

रविवार को मिले थे चार और कोरोना संक्रमित
बस्ती में रविवार को कोरोना वायरस के चार और पॉजिटिव पाए गए थे। ये  सभी कोरोना पॉजिटिव मृतक हसनैन अली के मौसेरे व ममेरे भाई-बहन हैं। यह जानकारी रविवार देर शाम बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर से मिली रिपोर्ट के बाद कोरोना मामलों के नोडल ऑफिसर एसीएमओ डॉ फकरेयार हुसैन ने दी। अब जिला प्रशासन इन चारों के आधार पर आगे की कार्यवाही करने की तैयारी कर रहा है।

बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर से मिली रिपोर्ट के अनुसार हसनैन अली की मौसी की दो लड़कियां सूफियान और राफियान पुत्री अजमतउल्लाह निवासी तुरकहिया तथा मामा खुर्शीद अहमद का बेटा मो.अयूब और बेेेेटी गुलशफा को कोरोना पॉजिटिव पाया गया। अब तक हसनैन और उसके परिवार से संबंधित कुल 12 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। 13वां हसनैन अली का इलाज कराने में मदद करने वाला गिदही खुर्द का सिराज अहमद है। कोरोना पॉजिटिव पाए गए इन चारों भाई बहनों को मेडिकल कॉलेज बस्ती के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करा दिया गया है।

हसनैन की फैमिली ट्री से लगातार कोरोना पॉजिटिव मिलने से अब यह मांग उठने लगी है कि तुरकहिया मोहल्ले के सभी लोगों का सैंपल करा दिया जाए। हालांकि जिला प्रशासन पर इस बात के लिए भी उंगलियां उठ रही हैं कि हसनैन के करीबी रिश्तेदारों तक को खोजने में 10 दिन से अधिक का समय लग गया। बावजूद अभी तक उनके हाथ सभी तक नहीं पहुंच पाए हैं।

Related Articles

Back to top button
Close
Close