उत्तर प्रदेशराज्य

कोरोना लॉकडाउन : बीमार पत्नी से मिलने के लिए 600 km की साइकिल यात्रा पर निकला युवक

 चंदौली                                                                                                    
कोरोना के कारण लॉकडाउन में लोगों के अनेक परेशानियों से रू-ब-रू होना पड़ रहा है। बिना जाने समझे लोगों पर कहीं कहीं पुलिस बर्बरता भी देखने को मिल रही है। झारखंड में एक परिवार तो घास खाने पर मजबूर हो गया है। लोग भी इसका मुकाबला करते दिख रहे हैं। कहीं, आदमी साइकिल से 600 किलोमीटर की यात्रा पर निकल पड़ा है।

बिहार के खगड़िया जिला थाना पिपरालतीफ के अटैया गांव निवासी पवन कुमार यूपी के अमेठी जिले के बहादुरपुर में राइस मील में मजदूरी करता है। लॉकडाउन की वजह से काम बंद है। उसे शनिवार की शाम परिजनों से सूचना मिली कि उसकी पत्नी कोमल की तबीयत खराब है। यह सुनने के बाद पवन लॉकडाउन के कारण वाहन मिलना मुश्किल देख साइकिल पर सवार होकर रविवार की तड़के सबह चार बजे घर के लिए निकल पड़ा। मजदूर सोमवार की शाम चंदौली पहुंचा। अभी उसने केवल 200 किलोमीटर की दूरी तय की है। रास्ते में अपने साथ लिए चना व लाई के सहारे उसे अभी 400 किमी दूरी तय कर अपने गांव पहुंचना है।

वहीं, सुल्तानपुर के गोरई थाना दोस्त इलाके के 8 छात्र कृषि प्रशिक्षण लेने एक महीने पहले अकबरपुर गए थे कि लॉकडाउन हो गया। मेस बंद होने पर सभी पैदल ही सुल्तानपुर के लिए चल पड़े। शुक्लागंज के पुराने पुल चौराहा पर पुलिस ने उन्हें रोका और पूछताछ की। उन्हें खाने के पैकेट दिए और पानी पिलाया। सभी छात्र स्टेशन की ओर बढ़े और प्लेटफार्म पर बैठकर खाना खाने लगे। तभी जीआरपी के सिपाही पहुंचे और बिना पूछताछ के उन पर डंडे बरसाने लगे। इसमें कई छात्र चोटिल हो गए।

Related Articles

Back to top button
Close
Close