मध्य प्रदेशराज्य

कोरोना से जंग में शामिल हुए आयुर्वेद चिकित्सकों के दल

भोपाल
कोरोना वायरस को परास्त करने की जंग में वैकल्पिक चिकित्सा पद्धतियों के जानकारों के दल जिलों के चिन्हित क्षेत्रों में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान के निर्देशो का पालन करते हुए आयुर्वेदिक चिकित्सकों ने आम लोगों को रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ाने के लिए आधारभूत दवाओं का वितरण कर रहे हैं। कुछ क्षेत्रों में होम्योपैथी दवाएं भी दी जा रही हैं।

लोगों ने आयुर्वेदिक चिकित्सकों की इस पहल का स्वागत करते हुए उनकी सराहना की है।
भोपाल में खुशीलाल शर्मा शासकीय आयुर्वेद चिकित्सालय के मेडिकल अफसर सहित संबंधित अमला चिन्हित क्षेत्रों में जाकर लोगों को कोरोना वायरस से बचने की सलाह दे रहा है।

मुख्यमंत्री  चौहान ने लोगों को आयुष दवाएं देने के निर्देश दिये हैं। इसी तारतम्य में कई जिलों में लाखों लोगों को दवाएं बांटी जा चुकी हैं। मुख्य रूप से त्रिकुट चूर्ण और संशमनी वटी लोगों को दी जा रही है। त्रिकुट चूर्ण 5 ग्राम, तुलसी 3 से 5 पत्तियाँ, एक लीटर पानी में डालकर उबाल कर आधा रहने पर घूंट-घूंट पीने की सलाह दी जा रही है। संशमनी वटी 2 गोली सुबह, 2 गोली शाम लेने की सलाह दी जा रही है।

कोलार क्षेत्र में खुशीलाल शर्मा शासकीय आयुर्वेद चिकित्सालय के मेडिकल स्टाफ का घर-घर जाकर प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने वाली दवाओं का वितरण रहवासियों को राहत दे रहा है। साथ ही, लोगों का मनोबल भी बढ़ा रहा है।  आयुर्वेद मेडिकल ऑफिसर डॉ. प्रबीन रघुवंशी बताते हैं कि मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान के निर्देशानुसार खुशीलाल शर्मा शासकीय आयुर्वेद चिकित्सालय की 15 टीमें नगर के चिन्हित क्षेत्रों में जाकर आयुर्वेदिक दवाओं का नि:शुल्क वितरण कर रही हैं। प्रत्येक टीम में सात सदस्य शामिल हैं, जो दवाओं की विशेषता एवं उनके उपयोग की विधि घर-घर जाकर बता रहे हैं।

आयुर्वेद एवं होम्योपैथी चिकित्सा दल नागरिकों को कोविड-19 के प्रति सजग रहने और स्वस्थ रहने का संदेश भी दे रहा है। कोलार की एक निजी कालोनी में पहुँचे चिकित्सा दल का रहवासियों ने ताली बजा कर अभिनंदन किया। शासन-प्रशासन के प्रयास और जनता के सहयोग से कोरोना पर नियंत्रण रखने में ऐसे प्रयासों से निश्चित ही मदद मिलेगी।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close