मध्य प्रदेशराज्य

गेहूं खरीदी के लिए ‘कोरोना फ्री एक्शन प्लान’ तैयारी, 180 केंद्रों में होगी कुछ ऐसी व्यवस्था

जबलपुर
कोरोना संकट (COVID-19) के इस दौर में सरकार किसानों से उनकी उपज का एक-एक दाना खरीदने का वादा कर चुकी है. लेकिन गेहूं खरीदी (Wheat Procurement) के दौरान भी संक्रमण फैलने का खतरा है. ऐसे में सरकार के निर्देश पर जबलपुर (Jabalpur) जिला प्रशासन ने खरीदी का कोरोना फ्री एक्शन प्लान तैयार किया है. जबलपुर में इस बार गेहूं खरीदी केन्द्रों की संख्या दुगुनी से भी ज्यादा बढ़ा दी गई है.

गेंहू खरीदी के लिए बीते साल जिले में 87 गेहूं खरीदी केन्द्र बनाए गए थे, जबकि इस बार अब तक 180 केन्द्र बनाए जा चुके हैं. जबलपुर कलेक्टर ने तय किया है कि 15 अप्रैल से 30 मई तक होने जा रही गेहूं खरीदी में किसानों को इस तरह से एसएमएस भेजे जाएंगे कि केन्द्रों में भीड़ ना लगे जिसमें एक दिन में सिर्फ 6 किसानों से ही खरीदी की जाएगी. इनमें रोजाना 3 किसानों से दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक खरीदी होगी, जबकि दोपहर 3 बजे से शाम 6 बजे तक 3 किसानों से खरीदी होगी.

खरीदी केन्द्रों में सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के साथ-साथ किसानों और कर्मचारियों के लिए हैण्डवॉश, मास्क और हैण्ड सैनिटाइजर्स की भी व्यवस्था की जाएगी. जबलपुर कलेक्टर भरत यादव ने जिले में हार्वेस्टर्स की संख्या बढ़वाकर कभी किसानों की वक्त पर फसल कटाई करवाने का भरोसा दिलाया है.

कलेक्टर ने किसानों से अपील की है कि वो अपनी उपज को पहले से खरीदी केन्द्रों में लेकर ना पहुंचे बल्कि एसएमएस मिलने पर ही केन्द्रों पर पहुंचे क्योंकि नई व्यवस्था के तहत एक केन्द्र में एक दिन में सिर्फ 6 किसानों को ही एसएमएस भेज कर समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी की जाएगी. इस बार व्यापारियों को भी उचित दाम पर किसानों से गेहूं खरीदी की अपील की गई है. जबकि जिला प्रशासन ने दावा किया है कि कोरोना संकट के बीच भी संक्रमण के खतरों को टालते हुए हर किसान की पूरी उपज खरीदी जाएगी.

Related Articles

Back to top button
Close
Close