देश

महाराष्ट्र के मंत्री जितेंद्र आव्हाड से जुड़े 16 लोग कोरोना पॉजिटिव, मचा हड़कंप

 
मुंबई/ठाणे

महाराष्ट्र के आवास मंत्री जितेंद्र आव्हाड से जुड़े 16 लोगों के सोमवार को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद हड़कंप मच गया। इसमें उनकी सुरक्षा में रहे 5 पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। सभी का टेस्ट किया गया था और सोमवार की शाम को रिपोर्ट आई। ठाणे महानगरपालिका के एक अधिकारी के मुताबिक, अन्य लोगों में उनके बंगले पर कार्यरत रसोइया, सफाई कामगार, बंगले पर कार्यरत स्टाफ और अन्य कर्मचारी शामिल हैं।
 पॉजिटिव लोगों में ठाणे मनपा का एक पूर्व नगरसेवक भी बताया जा रहा है। आव्हाड पिछले कुछ दिनों से अपने विधानसभा क्षेत्र कलवा और मुंब्रा में जोरों पर सक्रिय थे और वे तमाम लोगों को भोजन का वितरण खुद करते थे। ऐसे में मुंब्रा और कलवा पुलिसकर्मियों के अलावा उनकी सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मी और उनके स्टाफ से जुड़े कुछ लोग उनके साथ रहते थे।

आशंका है कि पुलिसकर्मियों के संपर्क में आने से लोग संक्रमित हुए। मुंब्रा पुलिस से जुड़े 35 पुलिसकर्मियों को क्वारंटीन किया गया है। सूत्रों के मुताबिक, इसके चलते ही सावधानी के तौर पर आव्हाड खुद क्वारंटीन में चले गए। मंत्री आव्हाड ने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित एक पुलिस अधिकारी के संपर्क के आने के कारण उन्होंने पृथक रहने का फैसला किया है। उन्होंने एक संदेश में कहा कि पहली जांच में वह कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं पाए गए लेकिन उन्होंने 14 दिन पृथक रहने का फैसला किया है।

इससे पहले आव्हाड ने कहा, ‘मेरे साथ चलने वाले एक पुलिस अधिकारी में संक्रमण की पुष्टि हुई है इसलिए मैंने पृथक रहने का फैसला किया है। ’ उन्होंने कहा, ‘कोरोना वायरस के लिए पहली जांच में संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई। 8 दिन बाद फिर से जांच होगी और मुझे उम्मीद है कि इसमें भी यही नतीजे आएंगे।’ मंत्री ने कहा कि संक्रमण की पुष्टि नहीं होने और पृथक रहने के लिए जरूरी अवधि पूरी करने के बाद वह लोगों की सेवा करने के लिए फिर से निकलेंगे।

आव्हाड ठाणे जिले के कलवा-मुंब्रा विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं, जहां पिछले कुछ सप्ताह में कई लोग संक्रमित पाए गए हैं। उन्होंने कुछ दिन पहले लोगों से घर में रहने की अपील करते हुए कहा था कि ऐसा नहीं करने पर इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है। आव्हाड खुद को पृथक करने वाले राज्य के पहले मंत्री हैं।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close