मध्य प्रदेशराज्य

लाकडाउन 2: 15 दिन बाद एक माह चलेंगी परीक्षाएं और 15 दिन में रिजल्ट देंगे सभी विश्वविद्यालय

भोपाल
राज्यपाल लालजी टंडन ने आज प्रदेश के सभी विश्वविद्यालय के कुलपतियों से वीडियो कांफ्रेंस (वीसी) कर तीन बिंदुओं पर चर्चा की। इसमें आनलाइन आयोजित कक्षाएं, परीक्षा और रिजल्ट के साथ कोरोना वायरस के संबंध में विद्यार्थियों को जागरुख करना शामिल हैं। सभी कुलपतियों ने कहाकि वे लाकडाउन खत्म होने के 15 दिन बाद से परीक्षाएं शुरू करा सकते हैं, जो एक माह तक चलेंगी। परीक्षाएं समाप्त होने के 15 दिन बाद सभी विद्यार्थियों के रिजल्ट जारी होंगे।

राज्यपाल की वीसी में प्रदेश के समस्त विवि के कुलपति के साथ प्रमुख सचिव नीरज मंडलोई भी शामिल हुए। अपने शहरों में रहने के बाद सभी कुलपतियों ने तीन बिंदुओं के संबंध में राज्यपाल टंडन को जानकारी दी। बैठक के दौरान राज्यपाल टंडन ने कुलपतियों से कहाकि वे सभी विद्यार्थियों की आनलाइन कक्षाएं किसी भी माध्यम के संचालित करें। इस दौरान जबलपुर के विटनरी विवि के कुलपति ने बताया कि उन्होंने लाकडाउन के दौरान करीब 900 आनलाइन कक्षाएं लगा चुके हैं। इसके बाद राज्यपाल टंडन ने परीक्षा और रिजल्ट के संबंध में कुलपतियों से चर्चा की। इस दौरान कुलपतियों ने कहाकि उनके परीक्षाएं आयोजित कराने के सभी इंतजाम हैं। लाकडाउन खत्म होने के 15 दिन बाद कक्षाएं शुरू कर दी जाएंगी। ये परीक्षाएं एक माह में पूरी कर ली जाएंगी। परीक्षाओं को कम समय में खत्म कराने के लिए बीस मई से तीन पालियों में परीक्षाएं कराई जा सकती हैं। पहली पाली सुबह सात से 10, दूसरी पाली सुबह 11 से दो तक तथा तीसरी पाली दोपहर तीन से शाम छह बजे तक चलेगी। सभी विवि परीक्षा के दौरान कापियों का वैल्यूशन शुरू करा देंगे। इससे रिजल्ट तैयार कराने में विवि को ज्यादा समय नहीं लगेगा। वह परीक्षा समाप्त होने के 15 दिनों बाद रिजल्ट जारी करेगा।

विवि भेज रहे एसएमएस और व्हाटसअप मैसेज
राज्यपाल टंडन ने सभी कुलपतियों से पूछा कि उन्होंने विद्यार्थियों को कोरोमा वायरस से जागरुख करने के लिए कितने मैसेज भेजे हैं। इस दौरान प्रदेश भर सामने आया कि हरेक विद्यार्थी के मोबाइल पर कोरोना वायरस से बचाव के मैसेज पहुंच गए हैं। विवि में विद्यार्थियों के मोबाइल व्हाटसअप और ईमेल के माध्यम से कोरोना वासरस से बचने के उपाय के मैसेज भेजे हैं। सबसे ज्यादा 14 लाख मैसेज महाराज छत्रसाल बुंदेलखंड विवि छतरपुर से भेजे गए हैं।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close