राजनीती

लॉकडाउन में बांद्रा स्टेशन पर हजारों की भीड़ जमा होने के लिए आदित्य ठाकरे ने केंद्र पर फोड़ा ठीकरा

 नई दिल्ली 
बांद्र स्टेशन पर लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाती जमा हजारों मजदूरों की भीड़ के लिए महाराष्ट्र सरकार के पर्यटन एवं पर्यावरण मंत्री और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे ने केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। आदित्य ने कहा कि बांद्रा स्टेशन पर ताजा स्थिति और सूरत में मजूदरों का उपद्रव केंद्र सरकार की विफलता की वजह से है। उन्होंने कहा कि प्रवासी मजूदरों को वापस घर भेजने की व्यवस्था पर केंद्र सरकार कोई फैसला नहीं कर पा रही है, उन्हें भोजन या रहने का ठिकाना नहीं चाहिए बल्कि वे घर वापस जाना चाहते हैं।

आदित्य ने ताबड़तोड़ किए ट्वीट्स में कहा, "जिस दिन ट्रेनें बंद की गईं, राज्य सरकार ने आग्रह किया था कि ट्रेनें 24 घंटे के लिए चलाईं जाएं ताकि प्रवासी मजदूर अपने घरों को लौट सकें। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे जी ने प्रधानमंत्री के साथ मुख्यमंत्रियों की वीडियो कॉन्फ्रेंस में भी यह मुद्दा उठाया था और प्रवासी मजूदरों को घर भेजने के लिए रोडमैप बनाने की मांग की थी। केंद्र द्वारा तैयार किया गया रोडमैप प्रवासी मजदूरों को एक राज्य से दूसरे राज्य में उनके घरों तक सुरक्षित और प्रभावकारी तरीके से पहुंचाने में मददगार होगा। यह मुद्दा केंद्र के साथ फिर उठाया गया है।"
 
आदित्य ने कहा कि सूरत में भी कानून- व्यवस्था की ऐसी ही स्थिति है। उन्होंने कहा कि जहां-जहां प्रवासी मजदूर हैं सब जगह से यही फीडबैक है, लोग ठहरने या खाना खाने के लिए भी तैयार नहीं हैं। आदित्य ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र में छह लाख से ज्यादा लोग विभिन्न कैंपों में रह रहे हैं।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close