देश

सरकार ने कहा, टेस्टिंग किट्स की कमी नहीं, मिलने वाले हैं 37 लाख, और 33 लाख का दिया ऑर्डर

 नई दिल्ली 
कोरोना वायरस के केस देश में लगातार तेजी से बढ़ रहे हैं और ऐसे में विपक्ष आरोप लगा है कि देश में जांच कम हो रही है। इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय और आईसीएमआर ने इसका खंडन किया है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने कहा है कि है देश में कल तक देश में 2.31 लाख सैंपल जांच किए गए हैं। कल 21 हजार 635 टेस्ट हुए। अब ICMR के पास 166 लैब हैं और प्राइवेट सेक्टर के पास 71 टेस्टिंग लैब हैं।

CMR ने साफ किया कि टेस्टिंग किट्स की देश में कोई कमी नहीं है। ICMR के आर गंगाखेडकर ने कहा कि हम 33 लाख RT-PCR किट्स का ऑर्डर कर रहे हैं। इसके अलावा 37 लाख रैपिड किट्स कभी भी मिल सकते हैं।  गंगाखेडकर ने कहा, 'कल मैंने बताया था कि अभी हमारे पास टेस्टिंग किट्स का 6 सप्ताह का स्टॉक मौजूद है। हमें RT-PCR की नई किस्त मिल गई है जो कि पर्याप्त संख्या में है। इसका मतलब है कि हमारे पास काफी समय के लिए यह मौजूद है।' देश में कम लोगों की जांच के लग रहे आरोपों पर ICMR ने कहा कि कोई आदमी चाहता है कि उसी जांच होनी चाहिए तो करवा सकता है। हम किसी को जांच के लिए मना नहीं करते। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि हम अपने सैंपल टेस्टिंग क्राइटेरिया के तहत जांच कर रहे हैं।

40 दिन तक लॉकडाउन क्यों?
40 दिन तक लॉकडाउन रखने की वजह पूछे जाने पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि यदि किसी क्षेत्र विशेष में 28 दिन तक कोविड-19 का कोई नया मामला नहीं आता है, तो ऐसी स्थिति में हम कह सकते हैं कि हम संक्रमण प्रसार की चेन को तोड़ने में सफल रहे।

24 घंटे में 31 लोगों की मौत
स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि पिछले 24 घंटे में देश में कोविड-19 के 1211 नए मामले सामने आए। इसके अलावा 31 लोगों की मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित 1036 लोग ठीक हो चुके हैं। कल एक ही दिन में 179 लोग ठीक हुए। अब तक 10363 केस सामने आए हैं। कल एक दिन में 1011 लोग पॉजिटिव पाए गए। वहीं देश में कोरोना वायरस से मरने वोलों की संख्या अब 339 पहुंच गई है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close