राज्य

Lockdown : बिहार में नौवीं में दाखिला नहीं, 10वीं में शिक्षक नहीं

 पटना 
बिहार में सरकारी स्कूल में मोबाइल एप से पढ़ाई तो शुरू कर दी गई, लेकिन जब नौवीं में नामांकन होगा तभी तो विद्यार्थी पढ़ाई शुरू करेंगे। नौवीं में नामांकन नहीं होने से इस कक्षा में छात्र और छात्राएं ही नहीं हैं। अगर बात 10वीं की करें तो अधिकतर शिक्षक हड़ताल पर हैं। अब स्कूल प्लस टू शिक्षकों से 10वीं की कक्षा चलाने की सोच रहा है।
 
ज्ञात हो कि लॉकडाउन की वजह से आठवीं से नौवीं में विद्यार्थी को प्रमोट कर दिया गया है। चूंकि आठवीं से नौवीं में जाने पर अधिकतर विद्यार्थियों के स्कूल बदल जाते हैं। अब जब मध्य विद्यालय के बच्चे माध्यमिक स्कूल में नामांकन लेंगे, तभी तो संबंधित स्कूल के माध्यम से वे पढ़ पायेंगे। आनन-फानन में मोबाइल एप से पढ़ाई तो शुरू करा दी गई, लेकिन अब अधिकतर माध्यमिक स्कूलों के साथ यह दिक्कतें आ रही हैं। नौवीं वाले छात्र तो 10वीं की पढ़ाई कर रहे हैं। नौवीं और 10वीं कक्षा के अधिकतर शिक्षक हड़ताल पर हैं। ऐसे में ऑनलाइन कक्षा के लिए शिक्षकों की कमी हो रही है। गर्दनीबाग कन्या उच्च माध्यमिक विद्यालय की प्राचार्य चित्रलेखा कुमारी ने बताया कि प्लस टू शिक्षकों से मोबाइल एप पर पढ़ाई शुरू करा रहे हैं। यह स्थिति अधिकतर स्कूलों की है। ज्ञात हो कि 17 फरवरी और फिर 25 फरवरी से प्रदेशभर के माध्यमिक शिक्षक हड़ताल पर हैं। आठवीं में पढ़ रहे बच्चे नौवीं कक्षा में चले गए, लेकिन इन बच्चों को अभी ना तो स्कूल का पता है और ना ही नौवीं के सिलेबस की जानकारी है। ये बच्चे अब किस स्कूल के माध्यम से नौवीं कक्षा में मोबाइल एप से पढ़ाई करेंगे। ज्ञात हो कि मोबाइल एप से ऑनलाइन पढ़ाई प्रदेशभर के पांच हजार से अधिक स्कूलों में शुरू किया जाना है। इनमें पटना जिले के 256 स्कूल शामिल हैं।

Related Articles

Back to top button
Close
Close