खेल

आईपीएल नहीं होने से जानिए BCCI और फ्रेंचाइजी टीमों को होगा कितने करोड़ों का नुकसान

 नई दिल्ली 
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन को लेकर अभी कर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है। कोविड-19 महामारी (कोरोना वायरस संक्रण) के बढ़ते मामलों को देखते हुए भारत में लॉकडाउन 3 मई तक बढ़ा दिया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 अप्रैल को राष्ट्र के नाम संदेश के दौरान लॉकडाउन पीरियड बढ़ाने की घोषणा की। टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर और मौजूदा हिंदी कमेंटेटर आकाश चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो पोस्ट किया है। इस वीडियो में उन्होंने आईपीएल नहीं होने से बीसीसीआई, फ्रेंचाइजी टीम, खिलाड़ियों और तमाम लोगों के नुकसान के बारे में बताया है।
 
आकाश चोपड़ा ने कहा कि लॉकडाउन 3 मई तक बढ़ा दिया गया है, ऐसे में अब मई और जून तक आईपीएल होने के आसार बिल्कुल भी नजर नहीं आ रहे हैं। आकाश चोपड़ा ने कहा कि अगर आईपीएल का 13वां सीजन रद्द होता है, तो बीसीसीआई को सबसे भारी नुकसान झेलना पड़ सकता है। आकाश चोपड़ा ने इस वीडियो में बताया कि आईपीएल के लिए स्टार स्पोर्ट्स बीसीसीआई को 3000 करोड़ रुपये ब्रॉडकास्टिंग के लिए देता है, जबकि बीसीसीआई को 1000 करोड़ रुपये मैदान पर लगे विज्ञापनों के मिलते हैं। आकाश चोपड़ा ने साथ ही कहा कि इसमें से कुछ हिस्सा फ्रेंचाइजी टीम को भी जाता है।
 
इसके बाद आकाश चोपड़ा ने बताया कि हर एक आईपीएल फ्रेंचाइजी टीम को करीब-करीब 170 करोड़ रुपये का नुकसान होगा। उन्होंने बताया कि हर फ्रेंचाइजी टीम का 200 करोड़ रुपये का सालाना रेवेन्यू होता है, इसके अलावा 50-60 करोड़ रुपये जर्सी स्पॉन्सर से मिलते हैं और 8-10 करोड़ रुपये गेट रिसिप्ट्स के मिलते हैं। इस दौरान आकाश चोपड़ा ने यह भी बताया कि इसमें से करीब 100 करोड़ रुपये फ्रेंचाइजी टीम खिलाड़ियों के ट्रैवल, होटल आदि पर खर्च करती है, तो अगर आईपीएल नहीं होता है तो यह खर्चा भी नहीं होगा। इस तरह से हर फ्रेंचाइजी टीम का करीब 170 करोड़ रुपये का नुकसान होता नजर आ रहा है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close