राजनीती

बीमारी लाए हवाई जहाज वाले, अब भुगत रहे पैदल चलने वाले

नई दिल्ली

कोरोना वायरस के संकट के चलते 21 दिनों का लॉकडाउन बढ़कर अब कुल 40 दिनों का हो गया है. इस मुश्किल में सबसे अधिक परेशानी मजदूरों को हो रही है, जिसका नज़ारा मंगलवार को मुंबई में दिखा. अब बिहारी मजदूरों को लेकर राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने सवाल उठाए हैं और सरकार से कहा है कि इनकी घर वापसी की पुख्ता तैयारी की जाए.

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा कि सरकारें सोचती हैं कि वो गरीबों के खाते में महज 500₹ डालकर और उन्हें मुट्ठीभर दाल-चावल का लालच देकर बहला लेंगी. मैं सरकारों से प्रार्थना कर रहा हूं कि कोरोना से कोई मरे ना मरे लेकिन करोड़ों गरीब लोगों को घर भेज, महीनों के राशन का इंतजाम करे अन्यथा वो भूख से ज़रूर मर जाएंगे.

उन्होंने कहा कि यह बीमारी लेकर आएं हवाई जहाज वाले और भुगते पैदल चलने वाले, कोरोना लेकर आए पासपोर्ट वाले और कीमत अदा करें BPL राशनकार्ड वाले. अमीरों की शानो-शौकत और बीमारी का हर्ज़ाना बेचारे करोड़ों ग़रीब लोग भुगत रहे है, गरीबों की मदद के लिए क्यों नहीं वो अब आगे आ रहे हैं?

इसी के साथ उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अपील की कि वे एक टीम का गठन करें, ताकि देश के किसी भी हिस्से में अगर बिहारी मजदूर हो, तो उसे वापस लाने का काम किया जा सके.

गौरतलब है कि जब 25 मार्च को लॉकडाउन का ऐलान हुआ तब हजारों की संख्या में मजदूर जहां थे वहां ही फंस गए, लॉकडाउन की वजह से काम नहीं है ऐसे में हर किसी को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है.

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close