राज्य

कोरोना से जंग: बिहार के चार जिलों में घर-घर जाकर कोरोना संदिग्धों की स्क्रीनिंग शुरू

पटना 
बिहार के चार जिलों सीवान, बेगूसराय, नवादा और नालंदा (बिहारशरीफ) में गुरुवार से पल्स पोलियो की तर्ज पर मेडिकल टीम ने घर-घर जा कर कोरोना की जांच (स्क्रीनिंग) शुरू कर दी। यह प्रक्रिया दो चरणों में अगले आठ दिनों में संपन्न करायी जाएगी। बिहार पहला राज्य है, जहां घर-घर जाकर कोरोना संदिग्धों की जांच की जाएगी। 
 
बिहार के वैशाली जिले के राघोपुर गांव गुरुवार को डॉक्टर की टीम पहुंची। गांव के 59 लोगों को स्क्रीनिंग करने के लिए हाजीपुर सदर अस्पताल लाया गया। बुधवार को राघोपुर का रहने वाला युवक कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। गांव में कई थानों की पुलिस पहुंची है। संक्रमित मिले मरीज के गांव और आसपास के गांवों को सील किया जा रहा है। कोरोना संक्रमित युवक की पत्नी और भाई को पटना में कोरेंनटाइन किया गया है। बता दें कि पहली बार 23 मार्च को खुसरूपुर में नाव से इलाज करने पहुंचे मरीज ही कोरोना पॉजीटिव पाया गया है।  बांस-बल्लियों से गांव में जाने वाले रास्ते को घेरा गया। घर-घर सर्वे कराकर एक-एक व्यक्ति की जांच कराई जाएगी।

बिहार में कोरोना वायरस का प्रसार बढ़ते जा रहा है। कोरोना वायरस ने अब 12 जिलों को अपने चपेट में ले लिया है। पहले यह संख्या 11 थी, लेकिन बुधवार को वैशाली में एक कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद संख्या बढ़कर 12 पर पहुंच गई है। सीवान में सबसे अधिक 29 केस मिले हैं जिसमें से 12 स्वस्थ हो गए हैं। बेगूसराय में 8 पॉजिटिव केस मिले जिसमें एक रिकवर हुआ। मुंगेर में 8 पॉजिटिव केस मिला जिसमें एक की मृत्यु हो गई जबकि छह ठीक हुए हैं। 

पटना में 6 मरीज मिले, जिसमें 5 स्वस्थ हो गए हैं। नालंदा में 6 मरीज मिले, जिसमें 2 स्वस्थ हुए हैं। गया में 5 मरीज मिले, जिसमें चार ठीक हुए हैं, गोपालगंज में 3 मरीज मिले तीनों स्वस्थ हो गए हैं। वहीं नवादा में 3 मरीज पॉजिटिव मिला, जिसमें एक स्वस्थ हुआ है। सारण में एक मरीज मिला और वह स्वस्थ हो गया है। लखीसराय में एक मरीज मिला वह भी स्वस्थ हो गया है, भागलपुर में एक मरीज मिला वह भी स्वस्थ हो गया है। इसके साथ ही वैशाली में एक मरीज मिला है जिसका इलाज जारी है।

बिहार में कोरोना से संघर्ष के बाद विजय पाने वालों की संख्या 37 हो गयी है। बुधवार को एनएमसीएच में इलाजरत आठ कोरोना मरीज पूरी तरह से स्वस्थ हो गए। इनमें सीवान के छह और गया तथा गोपालगंज के एक-एक मरीज शामिल हैं। बुधवार को जारी बयान में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि यह बिहार सरकार और जनता की कोरोना से मजबूती के साथ जारी लड़ाई का सुखद परिणाम है। बिहार में 50 फीसदी से अधिक मरीज ठीक हो चुके हैं। 
 

Related Articles

Back to top button
Close
Close