फर्श से अर्श तक

भिंड कलेक्टर ने इंदौर, भोपाल से आने वालों की सूचना देने पर 500 रुपए का इनाम

भिंड

 इंदौर, भोपाल, उज्जैन सहित देश के अन्य राज्यों के हॉट स्पॉट जिलों से आने वालों की सूचना देने पर भिंड कलेक्टर छोटे सिंह 500 रुपये का इनाम देंगे। कलेक्टर ने कोरोना संक्रमण से जिले की जनता को बचाने के लिए यह घोषणा की है। वहीं जिले की सीमाओं पर सख्ती बढ़ा दी है और बाहर से आने वालों की सीमा पर ही स्क्रीनिंग की जा रही है। कलेक्टर ने उन है। जहां से बाहरी लोगों की जिले में आने की संभावना है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण रोकना चुनौतीपूर्ण होता जा रहा है। संक्रमण धीरे-धीरे 25 जिलों तक पहुंच चुका है। इसे देखते हुए उन जिलों के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक सतर्क हो गए हैं, जहां अब तक एक भी कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक लॉकडाउन का कड़ाई से पालन कराने के अलावा हर वह मुमकिन कोशिश कर रहे हैं, जिससे कोरोना को जिले की सीमा में आने से रोका जा सके। भिंड के सीमावर्ती जिलों में संक्रमण के खतरे को देखते हुए कलेक्टर छोटे सिंह ने कोरोना महामारी से जूझ रहे जिलों से आने वालों की सूचना देने पर इनाम देने की घोषणा की है।

कलेक्टर सिंह ने बताया कि वैसे तो ग्राम पंचायत स्तर पर सरपंच, सचिव, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहित अन्य सरकारी कर्मचारी नजर रखे हुए हैं। फिर भी चोरी-छिपे लोगों के जिले की सीमा में दाखिल होने का खतरा बना हुआ है। इसे देखते हुए ही इनाम की घोषणा की गई है। सिंह ने बताया कि कोई भी चौकीदार या पुलिसकर्मी के माध्यम से बाहरी लोगों की सूचना दे सकता है।

कलेक्टर सिंह ने बताया कि 30 हजार से ज्यादा मजदूरों की वापसी हुई है। सभी की स्क्रीनिंग कराई गई है और सभी को क्वारंटाइन रखा गया है। यह अवधि भी पूरी हो चुकी है। अब नया कोई खतरा नहीं ले सकते, इसलिए जरूरत पड़ने पर सख्ती बरती जाएगी। वैसे जिले की जनता पूरा सहयोग कर रही है। फिर भी कोई बाहरी लोगों के आने की जानकारी छिपाता है तो सख्त कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने बताया कि जिले में 17 अप्रैल से सरकारी उचित मूल्य की दुकानों से राशन बांटना शुरू होगा। तब तक जहां जरूरी है, सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। इसके साथ ही शीघ्र ही जिला प्रशासन एक टोलफ्री नंबर भी जारी करने वाला है ताकि संदिग्धों की सूचना उस नंबर दी जा सकेगी।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close