मध्य प्रदेशराज्य

मध्यप्रदेश में फंसे दूसरे राज्यों के 7 हजार श्रमिकों को 70 लाख रूपए अंतरित

भोपाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर लॉकडाउन के कारण मध्यप्रदेश में फंसे 22 राज्यों के 7 हजार प्रवासी श्रमिकों को 70 लाख रूपए की सहायता राशि उनके खातों में अंतरित कर दी गई है। इनमें मध्यप्रदेश के अपंजीकृत 245 निर्माण श्रमिक भी शामिल हैं। दूसरे राज्यों के मध्यप्रदेश में फंसे प्रत्येक श्रमिक को एक-एक हजार रूपए की राशि उनकी दैनिक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए भिजवाई गई है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि वे चिंता न करें। मध्यप्रदेश सरकार उनका पूरा ध्यान रखेगी। उनके भोजन, आवास आदि की सारी व्यवस्था मध्यप्रदेश सरकार कर रही है।  

क्रं.

राज्य 

श्रमिकों की संख्या

1.

आंध्रप्रदेश

119

2.

असम

32

3.

बिहार

1366

4.

छत्तीसगढ़

324

5.

दिल्ली

17

6.

गुजरात

266

7.

हरियाणा

40

8.

हिमाचल प्रदेश

56

9.

जम्मू एण्ड कश्मीर

01

10.

झारखंड

1030

11.

कर्नाटक

08

12.

केरला

05

13.

मध्यप्रदेश 

245

14.

महाराष्ट्र

108

15.

उड़ीसा

169

16.

पंजाब

63

17.

राजस्थान

240

18.

तमिलनाडू

35

19.

तेलंगाना

08

20.

उत्तरप्रदेश 

1769

21.

उत्तराखंड

13

22.

पश्चिम बंगाल

725

23.

नेपाल

01

 

प्रमुख सचिव श्रम अशोक शाह द्वारा राशि का अंतरण सिंगल क्लिक के माध्यम से किया गया। प्रवासी श्रमिकों की जानकारी श्रम विभाग द्वारा विशेष सर्वेक्षण के माध्यम से जुटाई गई है। इस समय मध्यप्रदेश में 22 राज्यों के 7 हजार  प्रवासी श्रमिक हैं जिनमें उत्तरप्रदेश के 1769, बिहार 1366, झारखंड 1030, पश्चिम बंगाल 725, छत्तीसगढ़ 324, गुजरात 266, राजस्थान 220 श्रमिक शामिल हैं। इसमें नेपाल देश का भी एक श्रमिक शामिल है। मध्यप्रदेश के ऐसे 245 निर्माण श्रमिक, जिनका पंजीयन नहीं हुआ है, उन्हें भी एक-एक हजार रूपए की राशि अंतरित की गई है।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close