खेल

IPL 2020 हुआ सस्पेंड, अब क्या होगा आगे?

नई दिल्ली
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का 13वां सीजन कोविड-19 वैश्विक महामारी के चलते अगली सूचना तक सस्पेंड कर दिया गया है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने अपने इस प्रीमियर टूर्नमेंट के लिए कोई नई विंडो भी तय नहीं की है। इस टूर्नमेंट के लिए शुरुआत में 29 मार्च से 24 मई की तारीख तय की गई थी।

बुधवार को आईं मीडिया रिपोर्ट्स में आईपीएल के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर हेमंग अमीन ने सभी आठों फ्रैंचाइजी को बताया कि चूंकि देशभर में लॉकडाउन तीन मई तक बढ़ा दिया गया है ऐसे में आम तौर पर गर्मियों में होने वाले इस टूर्नमेंट का आयोजन इस विंडो में नहीं करवाया जा सकेगा। पिछले महीने जब सरकार ने 21 दिन का लॉकडाउन घोषित किया था तब आईपीएल को 15 अप्रैल तक टाल दिया गया था।

अब कब हो सकता है आईपीएल
अगर मौजूदा हालात में देखें तो आईपीएल का आयोजन सितंबर से नवंबर के बीच हो सकता है बशर्ते क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद टी20 वर्ल्ड की तारीख बदलने को राजी हो जाएं। ऑस्ट्रेलिया में फिलहाल छह महीने का ट्रैवल बैन चल रहा है जो 30 सितंबर को समाप्त होगा।

अगर स्थितियां सामान्य हो जाती हैं तो वर्ल्ड कप अक्टूबर-नवंबर में खेला जाएगा। एक अन्य विकल्प छह हफ्ते का एक छोटा आईपीएल करवाने का है जो सितंबर से अक्टूबर के पहले हफ्ते के बीच करवाया जा सकता है। हालांकि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के अध्यक्ष अहसान मनी ने जोर देकर कहा है कि वह आईपीएल के लिए सितंबर में यूएई में होने वाले एशिया कप को कैंसिल नहीं करेंगे।

खिलाड़ियों-फ्रैंचाइजी का क्या
पिछले साल दिसंबर में आईपीएल 2020 के लिए खिलाड़ियों की नीलामी हुई थी। इसमें फ्रैंचाइजी ने 140.30 करोड़ रुपये खर्च कर कुल 62 खिलाड़ियों को खरीदा था। लेकिन ईएसपीएनक्रिकइंफो के मुताबिक किसी भी आईपीएल खिलाड़ी को तब तक भुगतान नहीं होगा जब तक टूर्नमेंट शुरू न हो जाए।

कैसे मिलते हैं पैसे
नियमों के अनुसार फ्रैंचाइजी खिलाड़ियों को दो किस्तों में भुगतान करते हैं: टूर्नमेंट शुरू होने से एक सप्ताह पहले और बाकी सीजन खत्म होने के बाद। फ्रैंचाइजी को भी नुकसान कम नहीं होगा क्योंकि वे भी आईपीएल के कमर्शल रेवेन्यू पर काफी निर्भर करते हैं। इसमें प्रसारण अधिकार भी शामिल हैं। आईपीएल के प्रसारण अधिकारों की बात करें तो स्टार इंडिया ने साल 2017 में पांच साल के लिए इसे हासिल किया है। तब से हर फ्रैंचाइजी को उसके हिस्से के कम से कम 150 करोड़ रुपये देने का आश्वासन दिया गया है।

धोनी पर 'गंभीर' राय
इसमें एक बात जोड़ते चलें… पूर्व क्रिकेटरों गौतम गंभीर और मदन लाल ने हाल ही में कहा कि अगर इस साल आईपीएल नहीं होता है तो पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का भारतीय टीम में वापसी कर पाना मुश्किल होगा।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close