देश

निहंगों के हमले में घायल ASI हरजीत सिंह को मिला प्रमोशन, 3 पुलिसकर्मियों को DGP मेडल

 
पटियाला 

पटियाला सब्जी मंडी में निहंगों के हमले में बुरी तरह घायल होने वाले पंजाब पुलिस के एएसआई हरजीत सिंह को प्रमोट करके सब इंस्पेक्टर बना दिया गया है. उनकी बहादुरी और साहस को देखते हुए यह फैसला लिया गया है. इसके अलावा हमले में घायल हुए तीन पुलिस कर्मियों को डीजीपी मेडल से सम्मानित किया गया है.

दरअसल, पंजाब के पटियाला सब्जी मंडी में कर्फ्यू का पालन करवाने के दौरान निहंगों ने पुलिस दल पर हमला बोल दिया था. इस दौरान हरजीत सिंह ने बहादुरी और साहस के साथ हमलावरों का मुकाबला किया था. इस हमले में हरजीत सिंह का हाथ तलवार से कट गया था, जबकि पंजाब पुलिस के तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए थे.
 
इसके बाद हरजीत सिंह को चंडीगढ़ पीजीआई में भर्ती कराया गया था, जहां डॉक्टरों ने लंबी सर्जरी के बाद उनका हाथ जोड़ दिया था. पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से सलाह मशविरा करने के बाद हरजीत सिंह को प्रमोट करने और तीन पुलिसकर्मियों को पुरस्कृत करने का फैसला लिया.

हरजीत सिंह के अलावा जिन पुलिसकर्मियों को डीजीपी मेडल से नवाजा गया है, उनमें पटियाला सदर पुलिस स्टेशन के एसएचओ इंस्पेक्टर बिक्कर सिंह, एएसआई रघबीर सिंह और एएसआई राज सिंह शामिल हैं.
 
आपको बता दें कि चीन के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस ने भारत समेत पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है. इस जानलेवा वायरस को रोकने के लिए मोदी सरकार ने देशव्यापी लॉकडाउन कर रखा है. पंजाब सरकार ने सख्ती दिखाते हुए कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए कर्फ्यू लगा रखा है.

कोरोना वायरस से लोगों को बचाने के लिए पुलिसकर्मी और मेडिकल स्टाफ जी जान से लगा हुआ है. इस दौरान देश के कई हिस्सों में पुलिसकर्मियों और मेडिकल स्टाफ पर हमले देखने को मिल रहे हैं.

आपको बता दें कि कोरोना ने पूरी दुनिया को बदलकर रख दिया है. भारत समेत कई देशों में लॉकडाउन लगा दिया गया है. इसके बावजूद भारत समेत विश्वभर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है. अब तक भारत में कोरोना वायरस के 12 हजार 758 से ज्यादा हो चुकी है, जिनमें से 420 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, दुनियाभर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 20 लाख 70 हजार से ज्यादा हो चुकी है, जिनमें से एक लाख 38 हजार से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है.

Related Articles

Back to top button
Close
Close