खेल

गलतफहमी है लोगों की कि धोनी का भविष्य टिका है आईपीएल परः आकाश चोपड़ा

Spread the love

 नई दिल्ली 
टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज और मशहूर हिंदी कमेंटेटर आकाश चोपड़ा को नहीं लगता है कि 2020 इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में प्रदर्शन के आधार पर महेंद्र सिंह धोनी टीम में वापसी के बारे में सोच रहे होंगे। चोपड़ा ने कहा कि धोनी के भविष्य का फैसला एक आईपीएल के प्रदर्शन के आधार पर नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि धोनी ने अपने करियर में इतना कुछ हासिल किया है कि उनका भविष्य का फैसला एक आईपीएल का सीजन नहीं कर सकता।

चोपड़ा का मानना है कि लोगों में यह गलतफहमी थी कि धोनी की टीम इंडिया में वापसी आईपीएल में उनके प्रदर्शन पर निर्भर करेगी। उन्होंने कहा, 'यह लोगों की गलतफहमी थी कि धोनी की टीम इंडिया में वापसी उनके आईपीएल के प्रदर्शन पर निर्भर करेगी।' धोनी ने 2019 जुलाई के बाद से कोई मैच नहीं खेला है और आईपीएल के 13वें सीजन के साथ उन्हें क्रिकेट के मैदान पर वापसी करनी थी, लेकिन कोविड-19 महामारी के चलते फिलहाल आईपीएल को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है। इसके बाद से धोनी के भविष्य पर लगातार सवाल खड़े होने लगे हैं। उन्होंने कहा, 'अगर हम धोनी को एक खिलाड़ी के तौर पर देखते हैं और उनके करियर को देखते हैं और यह देखते हैं कि उन्होंने एक खिलाड़ी के तौर पर क्या हासिल किया है तो ऐसा सोचने का मतलब हम गलत सोच रहे हैं, क्योंकि यह सही नहीं है।'
 
'टीम चाहेगी तो धोनी खेलेंगे'

चोपड़ा ने कहा कि धोनी अगर टीम इंडिया के लिए फिर से खेलना चाहते हैं और टीम मैनेजमेंट भी ऐसा चाहता है तो वो जरूर खेलने उतरेंगे। उन्होंने कहा, 'देखिए, अगर टीम चाहती है कि वो खेलें, तो यह सब होगा, लेकिन अगर इस साल आईपीएल नहीं होता है और टी20 वर्ल्ड कप भी स्थगित हो जाता है तो उनकी उम्र एक साल और बढ़ जाएगी और फिर वो क्रिकेट के मैदान से करीब 18 महीने तक दूर रहेंगे तो आप ऐसा सोच सकते हैं कि वो फिर वो कभी टीम इंडिया के लिए नहीं खेलेंगे।'
 
'कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी'

चोपड़ा ने कहा कि मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए अक्टूबर-नवंबर में होने वाला टी20 वर्ल्ड कप होना मुश्किल नजर आ रहा है। सितंबर तक ऑस्ट्रेलिया ने ट्रैवल बैन लगा रखा है। टी20 वर्ल्ड कप इस साल ऑस्ट्रेलिया में ही खेला जाना है। ऐसे में आईपीएल खाली स्टेडियम में उस दौरान खेला जा सकता है। उन्होंने कहा, 'यह कहना अभी जल्दबाजी होगी, हमें देखना होगा कि दुनिया में सबकुछ कैसा होगा। कोविड-19 महामारी को लेकर स्थिति अभी साफ नहीं है। आईपीएल जैसे टूर्नामेंट के लिए आपको खिलाड़ियों की सुरक्षा के बारे में सोचना होगा मुझे लगता है टूर्नामेंट खाली स्टेडियम में कराया बजाय इसके कि यह रद्द हो।'
 
उन्होंने कहा, 'सही कहूं तो टी20 वर्ल्ड कप होना बहुत मुश्किल लग रहा है क्योंकि ऑस्ट्रेलिया ने ट्रैवल बैन सितंबर तक लगाया है। अक्टूबर में टी20 वर्ल्ड कप खेला जाना है। इस तरह से आईपीएल के लिए अक्टूबर-नवंबर का विंडो खुल जाता है। आईपीएल ऐसा टूर्नामेंट है, जहां ज्यादातर क्रिकेटर भारतीय हैं। कुछ ही खिलाड़ियों को ट्रैवल करके भारत आना होगा। एक क्रिकेट फैन और कमेंटेटर होने के तौर पर मैं चाहता हूं कि इस साल आईपीएल खेला जाए।'
 

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close