बिलासपुर

लॉकडाउन में भी लघु वनोपज संग्राहकों को हो रही है आय

Spread the love

बिलासपुर
बिलासपुर जिले में लॉकडाउन के दौरान लघु वनोपज संग्राहकों को आय की समस्या नहीं है। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए वनों में संग्राहक लघु वनोपज का संग्रहण कर रहे हैं। अब तक 959 संग्राहकों द्वारा 10 लाख 15 हजार से अधिक मूल्य के 429 क्विंटल लघु वनोपज का संग्रहण किया जा चुका है।

प्रबंध संचालक जिला वनोपज सहकारी यूनियन बिलासपुर ने बताया कि जिले में इस सीजन में 9959 क्विंटल अराष्ट्रीयकृत लघु वनोपज संग्रहण का लक्ष्य रखा गया है। लक्ष्य के विरूद्ध अब तक 429 क्विंटल का संग्रहण किया जा चुका है। बिलासपुर में 23 प्राथमिक लघु वनोपज सहकारी समितियां हैं। जिनमें 10 समितियों द्वारा चरौटा, हर्रा, बहेरा, नागरमोथा, शहद, रंगीन लाख, महुआ फूल, महुआ बीज, साल बीज, चिंरौंजी गुठली, बेल गुदा और इमली का संग्रहण कर समर्थन मूल्य पर विक्रय किया जा रहा है। इन लघु वनोपजों का अब तक 934 संग्राहकों द्वारा 418 क्विंटल विक्रय किया जा चुका है।

समर्थन मूल्य के अतिरिक्त संघ दर पर माहुल पत्ता, तिखुर, वन तुलसी वनोपज का भी संग्रहण कर विक्रय किया जा रहा है। अब तक 25 संग्राहकों ने इन वनोपजों का 10 क्विंटल विक्रय किया है। संग्राहकों को समितियों द्वारा उनके खाते में 3 लाख 24 हजार रुपए, स्व-सहायता समूह के माध्यम से 3 लाख 29 हजार रुपए तथा धनादेश के माध्यम से 1 लाख 7 हजार रुपए इस तरह कुल 7 लाख 60 हजार रुपए से अधिक का भुगतान कर दिया गया है और शेष भुगतान के लिये प्रक्रिया जारी है।

Related Articles

Back to top button
Close
Close