राजनीती

उद्धव साथ, माया अखिलेश की ना, विपक्ष की बैठक का सच

Spread the love

नई दिल्ली
देश में कोरोना संकट के बीच आज विपक्ष एक बड़ी बैठक करने वाला है। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर से बुलाई गई इस बैठक में पहली बार महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे शामिल होंगे। बैठक का मकसद कोरोना संकट और प्रवासी मुद्दों पर ठीक से न निपटने पर केंद्र को घेरना है। लेकिन समाजवादी पार्टी (SP) और बहुजन समाज पार्टी (BSP)ने विपक्ष की इस बैठक में हिस्सा लेने से इनकार कर दिया है। इसे विपक्ष में फूट के तौर पर देखा जा रहा है।

28 दलों के भाग लेने का दावा
सूत्रों ने दावा किया था कि इस बैठक में देश के 28 गैर एनडीए दल हिस्सा लेंगे। लेकिन SP और BSP के इस बैठक से दूर रहने के फैसले को विपक्ष में फूट के तौर पर देखा जा रहा है। मायावती कई मौकों पर विपक्ष की ऐसी बैठकों में अपनी प्रतिनिधि भेजती रही हैं लेकिन इसबार उन्होंने बैठक में भाग लेने से ही इनकार कर दिया।

माया, अखिलेश को न्योता, पर बैठक में नहीं होंगे शामिल
सूत्रों ने बताया की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होने वाली इस बैठक के लिए SP और BSP दोनों को न्योता भेजा गया था लेकिन दोनों दलों ने इस बैठक में शामिल में असमर्थता जताई। जानकार इस इनकार को राजनीति से जोड़कर देख रहे हैं।

..तो उत्तर प्रदेश है वजह
सूत्रों का कहना है कि SP और BSP का इस बैठक में शामिल नहीं होने का कारण उत्तर प्रदेश की राजनीति हो सकती है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पिछले कुछ समय से यूपी में काफी सक्रिय है। यूपी में प्रवासियों के लिए बस भेजने की प्रियंका की कोशिश को BSP चीफ मायावती कांग्रेस और बीजेपी की मिलीभगत बता चुकी हैं।

विपक्ष की बैठक में पहली बार उद्धव
शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे पहली बार विपक्ष की बैठक में शामिल होंगे। हाल ही में महाराष्ट्र से विधान परिषद के सदस्य बने उद्धव केंद्र को घेरने की योजना पर चर्चा कर सकते हैं।

आम आदमी पार्टी को निमंत्रण नहीं
सूत्रों के अनुसार, खास बात ये है कि पिछले कुछ समय से विपक्षी गठबंधन के साथ प्रमुखता से दिखने वाले AAP को इस बैठक लिए न्योता ही नहीं भेजा गया है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में AAP ने दिल्ली चुनाव में बीजेपी के खिलाफ जबरदस्त चुनाव लड़ा था। चुनाव में जीत के बाद AAP का केंद्र का प्रति रवैया नरम ही रहा है।

कोरोना के कारण देश के हालात पर होगी चर्चा
आज दोपहर तीन बजे बुलाई गई इस मीटिंग के बारे में लेफ्ट के एक सीनियर नेता का कहना था कि इसमें कोविड-19 के चलते देश में बने हालात से लेकर देश के राजनैतिक हालात और इकॉनामी की बदहाली तक पर चर्चा होगी। बैठक में एनसीपी, डीएमके, आरजेडी, लेफ्ट, शिवसेना, एसपी ,बीएसपी, नेशनल कॉन्फ्रेंस, टीडीपी, टीएमसी, आईयूएमएल, लोकतांत्रिक जनता दल, आरएलडी ,आरएलएसपी जैसे दल भाग ले सकते हैं।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close