खेल

 ‘एशेज से भी बड़ी होगी भारत के खिलाफ जीत’, पूर्व इंग्लिश गेंदबाज का बड़ा बयान

Spread the love

 नई दिल्ली
ऑस्ट्रेलिया दौरे पर ऐतिहासिक जीत हासिल कर वापस लौटी भारतीय टीम को अब इंग्लैंड (England) के खिलाफ 4 मैचों की टेस्ट सीरीज की मेजबानी करनी है, जिसकी शुरुआत अगले महीने 5 फरवरी से चेन्नई के चेपॉक स्टेडियम से होगी। आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंचने की सबसे बड़ी दावेदार भारतीय टीम के लिये यह सीरीज काफी महत्वपूर्ण होने वाली है क्योंकि सीरीज के फाइनल में जगह बनाने के लिये भारतीय टीम को कम से कम 3 मैचों में जीत हासिल करनी होगी।

वहीं घरेलू सरजमीं पर भारतीय टीम का रिकॉर्ड पिछले कुछ समय में काफी शानदार रहा है जिसको देखते हुए इंग्लैंड (England) के लिये यह सीरीज आसान नहीं होने वाली है। इस बीच सीरीज को लेकर इंग्लैंड (England) के पूर्व स्पिन गेंदबाज ग्रीम स्वान (Greame Swan) ने बड़ा बयान दिया है और कहा कि अगर इंग्लैंड (England) इस टेस्ट सीरीज में जीत हासिल करने में कामयाब रहता है तो वह उसके लिये एशेज जीतने से बड़ी उपलब्धि होगी।
 
इंग्लैंड (England) के दैनिक अखबार द सन के साथ बात करते हुए ग्रीम स्वान (Greame Swan) ने कहा, 'इंग्लैंड (England) क्रिकेट बोर्ड और खिलाड़ी हमेशा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली एशेज सीरीज को लेकर तैयारी करते हैं और इसे अल्टीमेट बैटल की तरह लेते हैं। इसमें कोई शक नहीं कि हमें टेस्ट क्रिकेट के बहुत सारे रोमांचक पल इस सीरीज के दौरान देखने को मिले हैं, लेकिन आपको समझना होगा कि अब ऑस्ट्रेलिया की टीम दुनिया की नंबर 1 टीम नहीं रह गई है। एक वक्त था जब वो नंबर 1 हुआ करते थे। अब वक्त आ गया है कि हमें एशेज से आगे बढ़ना होगा और मुझे लगता है कि अब भारत को टेस्ट सीरीज में हराना बड़ी उपलब्धि हैं। 2012 दौरे पर जब हमने भारत पर जीत हासिल की थी उसके बाद से वो अपनी सरजमीं पर लगभग अजेय हैं।'

गौरतलब है कि विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के लिये यह सीरीज दोनों टीमों के लिये काफी अहम होने वाली है, जहां भारतीय टीम को कम से कम 3 मैच जीतने हैं तो वहीं इंग्लैंड की टीम को चारों मैच में जीत की दरकार है।
 
ग्रीम स्वान ने इंग्लिश खिलाड़ियों को अपनी गलतियों से सीख लेने की सलाह देते हुए कहा कि मुझे समझ नहीं आता कि हमारी टीम स्पिन खेलने वाले बेहतरीन बल्लेबाजों के साथ क्यों नहीं जा रही। केविन पीटरसन ने 2012 में स्पिन का सामना अच्छे से किया था जिसकी बदौलत हमें जीत मिली थी।

उन्होंने कहा, 'हमें दौरे पर उन खिलाड़ियों को मौका देने की जरूरत है जो स्पिन को अच्छा खेलें, कदमों का इस्तेमाल करे, स्पिन खेलने के हमारे पारंपरिक तरीके को बदल दे और उसके बाद ही हम भारत को हरा सकेंगे। हम भारत को तब तक नहीं हरा सकते जब तक उनके स्पिनर्स हमारा विकेट निकालते रहेंगे और इसके लिये हमें पीटरसन की तरह खेलना होगा।'

Related Articles

Back to top button
Close
Close