राजनीती

मैं रोज 4 बाजरे की रोटी खाता हूं मुझे संक्रमण का खतरा नहीं – बैजनाथ कुशवाहा

Spread the love

भोपाल
 प्रदेश में सोमवार को शुरू हुए विधानसभा के बजट सत्र के दौरान विधायक ही कोरोना गाइडलाइन का खुलेआम उल्लंघन करते दिखे। विधानसभा की कार्यवाही में भाग लेने आए अधिकांश विधायकों ने मास्क तक नहीं लगा रखा था। इतना ही नहीं, मीडियाकर्मियों ने जब विधायकों से इस बारे में सवाल किए तो उन्होंने अजीब-अजीब तर्क दिए। चंबल क्षेत्र के कांग्रेस विधायक बैजनाथ कुशवाहा ने कहा कि वे रोज बाजरे की 4 रोटियां खाते हैं, उन्हें कोरोना का संक्रमण नहीं हो सकता।

पिछले 3-4 दिनों में एमपी में कोरोना संक्रमण के आंकड़े फिर से तेजी से बढ़े हैं और प्रदेश सरकार ने इसके लिए विशेष दिशानिर्देश भी जारी किए हैं। विधानसभा के अंदर भी केवल विधायकों को ही एंट्री दी गई है। संक्रमण का खतरा कम हो, इसके लिए मीडियाकर्मी और सुरक्षाकर्मियों को भी सदन के अंदर प्रवेश की अनुमति नहीं है। लेकिन जनप्रतिनिधि ही सरकार के निर्देशों की खिल्ली उड़ा रहे हैं।

बैजनाथ प्रसाद से जब यह पूछा गया कि सरकार ने संक्रमण के बढ़े आंकड़ों को मद्देनजर खास निर्देश जारी किए हैं तो उन्होंने कह दिया कि विधानसभा का सत्र खत्म करने के लिए इस तरह की बातें हो रही हैं। कांग्रेस के ही डॉ गोविंद सिंह ने कहा कि वे जनप्रतिनिधि हैं और सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनते हैं, लेकिन विधानसभा पहुंचने पर उनके चेहरे से भी मास्क गायब था। केवल बैजनाथ प्रसाद ही नहीं, कांग्रेस के साथ सत्तारूढ बीजेपी के कई विधायक भी सोमवार को बिना मास्क पहने ही विधानसभा पहुंचे।

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
Close