बिलासपुर

व्यापार मेले में रेलवे अपनी परिवर्तनकारी यात्रा का प्रदर्शन कर रही है

Spread the love

बिलासपुर
भारतीय रेलवे नई दिल्ली में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला में भाग ले रहे 1500 प्रदर्शकों में शामिल है। अपनी परिवर्तनकारी यात्रा का वर्णन करने के लिए इसने राष्ट्री य ट्रांसपोर्टर, भारतीय रेलवे ने 'आत्मनिर्भर भारतझ् विषय के साथ हॉल नं. 11 में प्रदर्शनी लगाई है। इस प्रदर्शनी में वंदे भारत एक्सप्रेस मॉडल का प्रदर्शन किया गया है, जो देश की पहली स्वदेश निर्मित सेमी हाई स्पीड ट्रेन है। यह ट्रेन दिल्ली-कटरा, दिल्ली-वाराणसी मार्ग पर अपनी सेवाएं उपलब्धं करा रही है। जल्दीर ही यह पूरे देश के अन्यन गंतव्यों को भी आपस में जोड़ेगी।

रेलवे पवेलियन का अगला भाग सर एम. विश्वेश्वरैया टर्मिनल रेलवे स्टेशन (बेंगलुरु) के छत्र का प्रतिरूप है जो रेलवे पवेलियन को मनोरम रूप प्रदान कर रहा है। इस बार, भारतीय रेलवे ने अनेक पहल की हैं, जिससे सभी आयु समूहों के लिए इस पवेलियन की यात्रा करना सार्थक हो रहा है। रेलवे के बारे में प्रश्नोत्तरी के लिए इंटरएक्टिव स्क्रीन लगाई गई है जिसमें कोई भी व्यक्ति भाग ले सकता है और दिलचस्प उपहार जीत सकता है। कालका-शिमला सेक्शन का वर्चुअल वास्तरविक अनुभव एक ऐसी चीज है जिसे आप इस पवेलियन का भ्रमण करते समय भूलना नहीं चाहेंगे। यहां आगंतुक टॉय ट्रेन में यात्रा का वर्चुअल अनुभव प्राप्त कर सकते हैं और इस सेक्शन के हरे-भरे इलाकों और पहाडि?ों के मंत्रमुग्ध कर देने वाले दृश्य देख सकते हैं।

टच स्क्रीन वीडियो गैलरी बनाई गई है जहां आप अपनी पसंद के विषय पर आधारित वीडियो गैलरी से अपनी पसंद का वीडियो देख सकते हैं। मिले सुर मेरा तुम्हारा गीत का नया संस्करण स्टॉल में प्रवेश करने के साथ ही दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर रहा है। अभी हाल ही में, यह नया संस्करण पूरे देश के रेलवे कर्मचारियों द्वारा देश की समृद्ध संस्कृतियों और भाषा का प्रदर्शन करते हुए गाया गया है। पवेलियन को दीवारों और खंभों पर ट्रांसलाइट्स लगाकर अधिक जानकारी देने वाला बनाया गया है। इससे कोई भी व्यक्ति रेलवे में अभी हाल में हुए विकास और भविष्य की रेल योजनाओं के बारे में नवीनतम जानकारी प्राप्त कर सकता है।

टोक्यो ओलंपिक 2020 के 5 पदक विजेताओं सहित रेलवे के खिलाडि?ों ने देश को जो गौरव प्रदान किया है, उसे दशार्ने के लिए एक विशेष समर्पित कोना बनाया गया है। इसके अलावा एक ट्रॉफी कैबिनेट भी बनाया गया है, जहां कोई भी व्यंक्ति राष्टर््और रेलवे परिवार के लिए रेलवे के खिलाडि?ों द्वारा अर्जित सम्मारन को देख सकता है। 60 से अधिक वर्षो के समृद्ध इतिहास वाली भारतीय रेलवे की मासिक पत्रिका को भी इस पवेलियन में स्थान दिया गया है। यहां कोई भी व्यक्ति भारतीय रेल (हिंदी) और इंडियन रेलवे (अंग्रेजी) पत्रिकाओं की आॅनलाइन सदस्यता ले सकता है।

 

Related Articles

Back to top button
Close
Close