देश

इन राज्‍यों में 14 नहीं, 30 अप्रैल तक रहेगा लॉकडाउन

नई दिल्‍ली
देश में कोरोना वायरस का खतरा अभी कम नहीं हुआ है, ऐसे में लॉकडाउन को आगे बढ़ाया जा सकता है। हालांकि केंद्र सरकार ने औपचारिक रूप से इसका ऐलान अभी तक नहीं किया गया है। कुछ राज्‍यों ने अपने यहां 30 अप्रैल तक लॉकडाउन को बढ़ा दिया है। प्रधाानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए बैठक की थी। इसी दौरान, 10 राज्‍यों के सीएम ने लॉकडाउन को जारी रखने का आग्र‍ह किया।
मंत्रालयों में कल से काम शुरू
केंद्र सरकार के मंत्रालयों में सोमवार से केंद्रीय और राज्य मंत्रियों के साथ ज्वाइंट सेक्रेटरी स्तर से ऊपर के अफसर बैठने लगेंगे। प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर अब सभी मंत्री और अफसर मंत्रालयों से ही काम करेंगे। पीएम ने मंत्रिपरिषद के सभी सदस्यों से सोशल डिस्‍टेंसिंग फॉलो करते हुए सोमवार से मंत्रालयों में बैठकर काम करने के लिए कहा है। अभी फिलहाल संयुक्त सचिव (जेएस) लेवल तक के अफसरों को ही मंत्रालय में काम के लिए बुलाया गया है।

इन राज्‍यों में 30 अप्रैल तक लॉकडाउन
तेलंगाना
पंजाब
महाराष्‍ट्र
ओडिशा
कर्नाटक
पश्चिम बंगाल
 
भारत में 14 अप्रैल के बाद भी लॉकडाउन रहेगा या नहीं, इस पर अब भी सस्पेंस बना हुआ है। इस पर चर्चा करने के लिए आज पीएम मोदी ने विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की।  

जिलों के हिसाब से हो सकता है फैसला
पहले कोरोना के सामने आए केसेज के आधार पर जिलों के हिसाब से लॉकडाउन लगा था। बाद में इसे संपूर्ण लॉकडाउन में बदल दिया गया था। दूसरे चरण के लॉकडाउन के दौरान, देश को खतरे के मद्देनजर रेड, यलो और ग्रीन सेक्टर में बांटा जा सकता है। जहां एक भी केस नहीं होगा उसे ग्रीन जोन में रख सकते हैं, वहीं जहां पर ज्यादा केसेज आएं हैं उसे रेड और कम खतरे वाले जिलों को यलो जोन में रख सकते हैं। रेड जोन में पूर्ण लॉकडाउन रहेगा तो ग्रीन जोन में कुछ ढील दी जा सकती है। मसलन, बाहर से आने वालों पर रोक लगाते हुए वहां स्थानीय रोजगार की गतिविधियां पहले की तरह संचालित करने की छूट दी सकती है। ग्रीन जोन वाले जिलों के सरकारी दफ्तरों में पहले की तरह काम शुरू करने की व्यवस्था हो सकती है।
 
मीटिंग में क्‍या बोले पीएम
प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान मुख्यमंत्रियों से कहा था, "पहले हमारा मंत्र था जान है तो जहान है, लेकिन अब मंत्र हो गया है जान भी जहान भी। जब मैंने राष्ट्र के नाम संदेश दिया था, तो प्रारंभ में बल दिया था कि हर नागरिक की जान बचाने के लिए लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंशिंग का पालन बहुत आवश्यक है। देश के अधिकतर लोगों ने बात को समझा और घरों में रहकर दायित्व निभाया।" पीएम मोदी ने कहा, "अब भारत के उज्‍जवल भविष्य के लिए, समृद्ध और स्वस्थ भारत के लिए जान भी जहान भी, दोनों पहलुओं पर ध्यान आवश्यक है। जब देश का प्रत्येक व्यक्ति जान भी और जहान भी, दोनों की चिंता करते हुए अपने दायित्व निभाएगा, सरकार और प्रशासन के दिशा-निर्देशों का पालन करेगा।"
 
कोरोना वायरस की वजह से हुए लॉकडाउन के कारण जहां एक तरफ देश दुनिया को कई तरह के नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। वहीं दूसरी तरफ इस लॉकडाउन से कुछ फायदे भी निकलकर सामने आए हैं। तो इस लॉकडाउन से फायदे क्या हुए हैं ये हम आपको इस वीडियो में बताने जा रहे हैं।

मीटिंग में क्‍या बोले सीएम
पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कम से कम एक पखवाड़े के लिए देशव्यापी लॉकडाउन का विस्तार करने का सुझाव दिया है। मुख्यमंत्री ने पंजाब में लॉकडाउन को एक मई तक बढ़ा दिया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी कम से कम अप्रैल के अंत तक लॉकडाउन की बात कही। राजस्थान और पंजाब जैसे कई राज्यों ने पहले से ही लॉकडाउन को लेकर अपनी रणनीति तैयार कर ली है। प्रधानमंत्री ने शनिवार को सभी मुख्यमंत्रियों से कहा कि वह स्थिति की गंभीरता को देखते हुए उनके लिए चौबीसों घंटे फोन पर उपलब्ध होंगे।
 

Related Articles

Back to top button