दुनिया

कोरोना के बीच पाकिस्तान में आंशिक रूप से जल्द बहाल होगी पैसेंजर ट्रेन सेवा

इस्लामाबाद
पाकिस्तान के रेल मंत्रालय ने कोरोना वायरस महामारी के बीच सभी चार प्रांतों में ट्रेन संचालन को आंशिक रूप से फिर से शुरू करने की रणनीति को अंतिम रूप दे दिया है। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने गुरुवार को सूत्रों के हवाले से बताया, “रणनीति के अनुसार ट्रेन परिचालन सभीq चार प्रांतों में आंशिक रूप से फिर से शुरू होगा। प्रधानमंत्री के अनुमोदन के बाद 25 अप्रैल से 24 ट्रेनें अप और डाउन परिचालन के लिए काम करना शुरू कर देंगी।” 

इस दौरान कर्मचारियों और यात्रियों को विशेष ट्रेन संचालन के दौरान सुरक्षा दिशानिदेर्शों का पालन करना होगा। किसी भी तरह की कोताही बरतने पर रेलवे नियमों के अनुसार सख्त कार्रवाई की जाएगी। सूत्रों ने कहा कि आरक्षण कायार्लय लॉकडाउन खुलने के बाद भी बंद रह सकते हैं, इसलिए यात्रियों को केवल ऑनलाइन बुकिंग के माध्यम से टिकट खरीदना होगा। एक ट्रेन की 60 प्रतिशत सीट आरक्षित (बुक) हो जाने के बाद उस ट्रेन के लिए बुकिंग बंद कर दी जाएगी, ताकि सामाजिक दूरी बनी रहे। यह नियम कोरोनावायरस से बचाव के लिए मंत्रालय के उपायों में निहित हैं। इसके अलावा ट्रेन के प्रस्थान के 24 घंटों के अंदर विशेष ट्रेनों की बुकिंग को भी निलंबित कर दिया जाएगा।

भारत की बात करें तो यहां कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर राहत की खबर है। पिछले 12 घंटे में कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम हुई है, जिससे पिछले 12 घंटे में 447 केस और 22 मौतें दर्ज की गई हैं। नए आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 12380 हो गई है। वहीं, इस खतरनाक कोविड-19 महामारी से मरने वालों का आंकड़ा 414 पहुंच गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना वायरस के कुल 12380 मामलों में से 10477 एक्टिव केस हैं। इसके अलावा, 1488 लोग पूरी तरह से ठीक हो गए हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के गुरुवार सुबह 8 बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना वायरस से सर्वाधिक 187 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई। यहां अब इस महामारी से पीड़ितों की संख्या 3398 हो गई है। 

महाराष्ट्र में सबसे अधिक कोरोना का कहर देखने को मिल रहा है। महाराष्ट्र में कुल 3398 पॉजिटिव केस कोरोना वायरस के मिल चुके हैं। कोरोना के इन कुल केसों में से 2916 केस एक्टिव हैं और 295 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें छुट्टी दे दी गई है। इस राज्य में अब तक सबसे अधिक 187 लोगों की जान जा चुकी है। 

Related Articles

Back to top button