राजनीती

भाजपा नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने मंत्री आतिशी के अनिश्चितकाल के भूख हड़ताल पर सवाल खड़े किए, अनशन को ढोंग करार दिया

नई दिल्ली
देश की राजधानी दिल्ली में पानी का संकट सियासी रूप ले लिया है। आदमी पार्टी की नेता और दिल्ली की मंत्री आतिशी का अनशन दूसरे दिन भी जारी रहा। दक्षिणी दिल्ली के भोगल में अपने ‘जल सत्याग्रह’ स्थल से एक वीडियो संदेश में उन्होंने कहा कि जब तक हरियाणा दिल्ली की जनता के लिए और पानी नहीं छोड़ता, तब तक वह कुछ नहीं खाएंगी। उन्होंने दावा किया कि शहर में 28 लाख लोग पानी की किल्लत से जूझ रहे हैं। इस सियासत के बीच पानी के मुद्दे पर अनिश्चितकाल के लिए अनशन पर बैठीं जल मंत्री आतिशी पर भाजपा हमलावर हो गई है।
 
सत्याग्रह टैंकर माफियाओं के खिलाफ करें
भाजपा नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने मंत्री आतिशी के अनिश्चितकाल के भूख हड़ताल पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने इस अनशन को ढोंग करार दिया और कहा ''आतिशी जी की भूख हड़ताल भी उतना ही बड़ा ड्रामा है जैसे केजरीवाल जी अपनी ईमानदारी का ढोंग करते हैं।अनिश्चितकालीन सत्याग्रह पर बैठने वाली आतिशी जी दोपहर और रात में गायब हो जाती हैं।"भाजपा नेता ने यह भी कहा कि  "अगर आपको सत्याग्रह करना ही है तो टैंकर माफिया के खिलाफ कीजिए। अपने उन विधायकों के खिलाफ भूख हड़ताल पर बैठिए जिन्होंने टैंकर माफिया से दलाली खाई है और दिल्ली के लोगों को पानी के नाम पर लूटे हैं।"
 
6-7 घरों पर एक टैंकर दिया जाए
उधर रमेश बिधूड़ी के नेतृत्व में दिल्ली के ओखला औद्योगिक क्षेत्र इलाके में स्थित जल बोर्ड के ऑफिस पर बीजेपी आप के खिलाफ धरना प्रदर्शन कर रही है। रमेश बिधूड़ी के अनुसार दिल्ली जल बोर्ड ने ट्यूबवेल से पानी की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए एक समिति बनाने के लिए डीएम को पत्र लिखा है। इसमें एक घर के लिए एक टैंकर उपलब्ध कराने के बजाय 6-7 घरों को एक टैंकर वितरित करने की बात कही गई है, जिससे सभी घरों को समान रूप से जल आपूर्ति हो सके।गौरतलब है कि भीषण गर्मी के बीच दिल्लीवासियों को पानी की किल्लत से जूझना पड़ रहा है। लोग पानी की एक-एक बूंद के लिए तरस रहे हैं। पानी के मुद्दे को लेकर भाजपा और आप के बीच सियासत चल रही है।

Related Articles

Back to top button